Log Badal Jate Hai Shayari

You are currently viewing Log Badal Jate Hai Shayari

1- ये जो दुनिया है ऊपर वाले की, इसमें कोई किसी का नहीं है।

2- वो भी बता रहे रहे है अपनापन क्या होता है, जो कभी अपनों को पूछते भी नहीं।

3- कल और बुरी तरह गिरता अच्छा हुआ मैं आज ही बदल गया, अच्छा हुआ उसने भी देर नहीं की वो कल का बदलता आज ही बदल गया।

4- ये जो तू बदला है सनम, ये तू बदला है सनम या फिर ये कोई बदला है सनम।

5- मैं जैसा हूँ वैसा क्यों रहूँ, जब सब बदल गए तो मैं पहले जैसा क्यों रहूँ।

6- कुछ महूरत के हसाब से कुछ अच्छी सूरत के हिसाब से, लोग बदल ही जाते है अपनी ज़रुरत के हिसाब से।

7- फितरतें लोगों की बदलती रहेगी, ये ज़िन्दगी यूँ ही चलती रहेगी।

8- वो बदला क्या मौसम की तरह, आँखें बरसात सी बहने लगी।

9- आज वो भी कह रहे हैं तुम भूल गए हमे, जो खुद कभी हमे याद नहीं करते।

10- फ़र्क़ है ज़रा हम दोनों के बदलने में, तुम ज़रुरत देख कर बदले हो और मैं तुम्हे देख कर।

11- मेरे अदबो आदाब पर हर बार दखल दिया गया है, मैं बदला नहीं हूँ मुझे बदल दिया गया है।

12- वो कहते है बहुत बदल गया हूँ मैं, हकीकत ये है संभल गया हूँ मैं।

13- तू अब मिलता ही नहीं, इस परेशानी में खोया खोया सा रहता हूँ।

14- बदल है तू बहुत तू पहले बिलकुल ऐसा नहीं था, बेबसी में पूछता था हाल हमारा, ये बेरुखी सा तेरा लहज़ा नहीं था।

15- पहले बात होती थी बीच में हमारे, क्यूंकि बीच में हमारे पहले पैसा नहीं था।

16- बदल गया हूँ मैं भी पूरी तरह अब अधूरा साथ निभाने वालों को चुनता ही नहीं।

17- दवा बदल गई है अब रोग बदल गए है, एक हम ही रह गए कम्बख्त पहले से यहाँ तो सारे लोग बदल गए हैं।

18- तू संभल कर तो देख तेरे सारे काम संभल जाएंगे, तू करके तो देख कोशिश एक दफा तेरे सारे अंजाम बदल जाएंगे।

19- जान छिड़कते थे जब तक जेब में पैसा था, तुम्हे हालातों ने बदला या तुम पहले से ऐसे थे।

20- बदले तुम हमारी ज़िन्दगी बदल गई, तुमने पीठ क्या पलटी हमारी पूरी ज़िन्दगी पलट गई।

21- किसी के समझाने से पहले समझ जाना इस बार, कोई और बदले इससे पहले तुम बदल जाना इस बार।

22- दिन बदले जितनी दफा जितनी दफा वार बदले, तुम भी पीछे ना रहे तुम भी उतनी बार बदले।

23- बड़ी बुरी तरह मेरे दिल का कतल कर, चले गए ना तुम भी बदल कर।

24- क्यों पूछते हो की कैसे बदल गया वो, मैं बता दूँ मुझे बतला कर नहीं बदला वो।

25- चाल-ढाल बदल गई लिबाज बदल गया है, शहर जाकर तुम्हारा बात करने का मिजाज़ बदल गया है।

इन्हे भी पढ़े :-

Leave a Reply