30 Best Gyan shayari

You are currently viewing 30 Best Gyan shayari

1- एक बात सदैव ध्यान रखें प्रयास विफल होता है इंसान नहीं।

2- जो सबका तरफ़दार बनता है वो सिर्फ फायदे का तरफ़दार होता है।

3- चेहरा एक हसीं हादसा है जो एक ही हादसे में छीन सकता है इसलिए चेहरे से नहीं किरदार से प्यार करो।

4- सिर्फ अच्छे दोस्त बनाने ही नहीं होते बल्कि उनका अच्छा दोस्त बनना भी होता है।

5- सलाहकार नहीं कलाकार बनो, किसी से वफ़ा करने से पहले वफादार बनो।

6- दर्द ज़िन्दगी का अटूट हिस्सा है इसे ना ज़िन्दगी से अलग किया जा सकता है और ना ही नज़रअंदार किया जा सकता है।

7- कई बार इज़्ज़त कमाने के लिए बेइज़्ज़ती करवानी भी ज़रूरी होती है।

8- सम्मान मांगने से घटता है और ज्ञान बांटने से बढ़ता है।

9- जहाँ सभी बोल रहे हो वहां चुप रहना ही बेहतर है।

10- हमे शिकायत करने से ज्यादा कोशिश करने पर ध्यान देना चाहिए, हमे बहाने बनाने से ज्यादा मुकाम बनाने पर ध्यान देना चाहिए।

11- वो इंसान कभी नहीं जीत सकता जो जल्दी हार मान जाता है और वो इंसान कभी हार नहीं सकता जो कभी हार नहीं मानता।

12- मुसीबतें आपको कमज़ोर बना देंगी मगर जब आप मुसीबतों को ज़िम्मेदारी समझने लगेंगे तो वह आपको ताक़तवर बना देगी।

13- मदद करके एहसान जताने से उसका मूल्य ख़त्म हो जाता है।

14- इंसान अपनी नहीं अपने तजुर्बे की जुबां बोलता है।

15- ज्ञानी व्यक्ति की एक निशानी यह होती है की वह कभी खुद को ज्ञानी और दूसरो को बेवकूफ नहीं कहता।

16- जो जुबां पर काबू करना सीख जाते हैं वह दूसरों पर अपने चरित्र का जादू करना सीख जाते हैं।

17- जो ज्ञान का पीछा करते हैं सफलता उनका पीछा करती है।

18- जिनके भीतर सदैव सीखने की भावना जीवित रहती है उनका चरित्र कभी नहीं मरता।

19- हमे छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देना चाहिए क्यूंकि बड़ी-बड़ी बातें तो कभी-कभी होती है।

20- डर पूर्णता स्वस्थ होने के बावजूद भी शरीर को अपांग बना देता है।

इन्हे भी पढ़े :-

21- उस रिश्ते से गन्दा और कुछ नहीं जहाँ हर वक़्त सफाई देनी हो।

22- ज्ञानी वह नहीं जिसे अपने ज्ञान का घमंड हो अपितु ज्ञानी वह है जिसे अपने घमंड का ज्ञान हो।

23- ज्ञान प्राप्त करने के लिए धन की नहीं अपितु इच्छा शक्ति की आवश्यकता होती है।

24- अज्ञानी सिर्फ सपने देखते हैं अपितु ज्ञानी उन्हें पूरा करने का प्रयास करते हैं।

25- ज्ञान और अंतरिक्ष की कोई सीमा नहीं है।

26- किसी को हारने का प्रयास करने से बेहतर है की हम खुद जीतने का प्रयास करें।

27- मूर्खता एक ऐसा गुण है जो सभी को दिखाई देता है सिवाय उसके जिसके भीतर यह गुण है।

28- कमियां दूसरों में नहीं खुद में निकालें, दूसरो को नहीं खुद को ठीक करने का प्रयास करें।

29- अपना राज़ एवं दूसरों का राज़ किसी को ना बताएं फिर चाहे कोई आपका कितना भी क़रीबी क्यों ना हो।

30- फायदा ज्यादा दोस्त बनाने में नहीं बल्कि अच्छे दोस्त बनाने में है।

Leave a Reply