25 Best Game Shayari in Hindi

25 Best Game Shayari in Hindi
Game Shayari
Game Shayari in hindi

1- ज़िन्दगी से बड़ा ना कोई और दूसरा गुरु होता है, जहाँ लगने लगे खेल ख़त्म वही सब कुछ शुरू होता है।

2- शतरंज और ज़िन्दगी में एक बात सामान होती है आखिर में जीतता वही है जो दिल से नहीं दिमाग से खेलता है।

3- खेलने को खिलौने कम नहीं थे फिर भी उसने मेरे दिल को ही चुना।

4- ज़िन्दगी का खेल तब ख़त्म नहीं होता जब तुम हार जाते हो बल्कि तब ख़त्म हो जाता है जब तुम खेलना छोड़ देते हो।

5- मर कर जीने से अच्छा है अपनी जान छोड़ देना, डर कर खेलने से अच्छा है मैदान छोड़ देना।

shayari on games in hindi

6- सबसे बड़ा खिलाड़ी वो नहीं जो कभी हारता नहीं बल्कि वो है जो कभी हार नहीं मानता।

7- खेल क़िस्मत का ही क्यों ना हो मेहनत बाज़ी पलट ही देती है।

8- ये खेल आसान नहीं ज़िन्दगी है यहाँ खिलाड़ी भी खुद बनना पड़ता है और निर्णायक भी।

9- उससे कहो की अब फिरसे ना खेले, बड़ी मुश्किल से दिल से किसी पर भरोसा किया है मुझ पर एहसान करे मेरे दिल से ना खेले।

10- इश्क़ अब जिस्म का खेल बन चूका है अब दिल तो सबके पत्थर बन चुके हैं।

read also:-

khel par shayari

11- सिर्फ खिलौनों से खेला जाता है ये बचपन में लगता था, बड़े हुए तो जाना अब सब सब दिल से खेलना पसंद करते हैं।

12- तक़दीर का खेल था हमने मेहनत कर जीत लिया, ज़माने लग गए दुनिया को खेल समझते-समझते हमने चंद पलों में ये समझ लिया।

13- वक़्त के इस खेल में हम ही खिलाड़ी का किरदार निभा रहे थे और खिलोने का भी।

14- ये पूरा खेल ऊपर वाले का बनाया हुआ है हम तो बस उसके मोहरे हैं वो जैसे मर्ज़ी वैसे चला लेता है।

15- ज़िन्दगी जंगल है यहाँ या तो राजा जैसा शेर बन जाओ या फिर डरपोक भेड़ बन जाओ।

khel shayari
Game Shayari in hindi

16- इश्क़ अब खेल बन गया है जिसमे मासूमों का दिल खिलौना होता है।

17- अभी तो राख ही हुए है तेरे इश्क़ में अभी तो बिखरना इस खेल में बाकी है।

18- वजूद बनाना है इस ज़िन्दगी के खेल में तो डर कर नहीं लड़ कर खेलना सीखो।

19- खेलने वाले लाखों मिल जाएंगे इस दिल से, लेकिन इसे चाहने वाला कोई एक नहीं मिलेगा।

20- ये ज़िन्दगी का खेल किसी सिक्के से कम नहीं कब किस तरफ पलटेगा कोई नहीं जानता।

read also:-

गेम शायरी
Game Shayari

21- ज़िन्दगी के इस खेल को दिल से नहीं दिमाग से खेलना, दिल से खेलने वालों को ये दुनिया खिलौने बनाकर खेलती है।

22- कामियाबी के खेल में जो खो जाता है वो मंज़िल पा लेता है।

23- खेल ले मेरे दिल से ये एक दफा फिर तैयार है, क्या करे अब दिल भी ये इसे बस तुझसे प्यार है।

24- कामियाबी की भूख है तो नीयत प्यासी होनी चाहिए, खेल जीतना चाहते हो तो मेहनत अच्छी खासी चाहिए।

25- ये खेल बहादुरी है तू खेल, तू ना डर, या तू शेर बन कर जीत, या तू भेड़ बन कर मर।

manish mandola

Manish mandola is a co-founder of bookmark status. He is passionate about writing quotes and poems. Manish is also a verified digital marketer (DSIM) by profession. He has expertise in SEO, GOOGLE ADS and Content marketing.

Leave a Reply