25 Best welcome shayari

25 Best welcome shayari

ये कौन आया, रौशन हो गयी महफ़िल किसके नाम से मेरे घर में जैसे सूरज निकला है शाम से।

हर गली अच्छी लगी हर एक घर अच्छा लगा, वो जो आया शहर में तो शहर भर अच्छा लगा।

आप आये यहाँ शुक्रिया मेहरबां क्या कहें आपको हम हुये बेजुबाँ यह सभा हर्ष से हो गई तरबतर नूर से भर गया है ये सारा शमाँ।

जो दिल का हो ख़ूबसूरत ख़ुदा ऐसे लोग कम बनाये हैं, जिन्हें ऐसा बनाया है आज वो हमारी महफ़िल में आये हैं।

हर गली अच्छी लगी हर एक घर अच्छा लगा, वो जो आया शहर में तो शहर भर अच्छा लगा।

जो दिल का हो ख़ूबसूरत ख़ुदा ऐसे लोग कम बनाये हैं, जिन्हें ऐसा बनाया है आज वो हमारी महफ़िल में आये हैं।

हसरतो ने फिर से करवट बदली है, आप आये तो बलखा के बहारें आईं।

स्वीकार आमंत्रण किया, रखा हमारा मान, कैसे करे कृतज्ञता, स्वागत है श्री मान..।।।

रोली तिलक थाल मे, श्री फल लिया सजाये, स्वागत को श्री मान के, भेट दुशाला लाये..।।

दिल को सुकून मिलता हैं मुस्कुराने से, महफ़िल में रौनक आती है आपके आने से

जो दिल का हो ख़ूबसूरत ख़ुदा ऐसे लोग कम बनाये हैं, जिन्हें ऐसा बनाया है आज वो हमारी महफ़िल में आये हैं।

गुलों में रंग भरे बाद-ए-नौ-बहार चले चले भी आओ कि गुलशन का कारोबार चले। – फ़ैज़ अहमद फ़ैज़

तुम्हारे साथ ये मौसम फ़रिश्तों जैसा है तुम्हारे बा’द ये मौसम बहुत सताएगा

मीठी बात और चेहरे पर मुस्कान, ऐसे लोग ही है हमारी महफ़िल के शान।

हमारी महफ़िल में लोग बिन बुलायें आते हैं, क्योकि यहाँ स्वागत में फूल नहीं पलकें बिछाये जाते हैं।

तुम आ गए हो तो कुछ चाँदनी सी बातें हों ज़मीं पे चाँद कहाँ रोज़ रोज़ उतरता है।

दिल को सुकून मिलता हैं मुस्कुराने से, महफ़िल में रौनक आती है दोस्तों के आने से।

हुस्न-ओ-इश्क का समा है आज जमाने के बाद, हर फूल की खुशबू गज़ब है आप के आने के बाद।

वो खुद ही नाप लेते हें बुलंदी आसमानों की, परिंदों को नहीं तालीम दी जाती उड़ानों की।

सबके दिलों में हो सबके लिए प्यार, आने वाला हर पल लाये खुशियों की बहार।

इस उम्मीद के साथ भुलाके सारे गम, इस आयोजन का आओ हम करें वेलकम।

चाँदनी रात बड़ी देर के बाद आयी, ये मुलाक़ात बड़ी देर के बाद आयी।

आज आये हैं वो मिलने मुद्दत के बाद, आज की रात बड़ी देर के बाद आयी।

आये वो हमारी महफ़िल में कुछ इस तरह कि हर तरफ़ चाँद-तारे झिलमिलाने लगे।

देर लगी आने में तुम को शुक्र है फिर भी आए तो आस ने दिल का साथ न छोड़ा वैसे हम घबराए तो।

इन्हे भी पढ़े :-

Leave a Reply