49+ Sad Dhoka Shayari

49+ Sad Dhoka Shayari
sad dhoka shayari
sad dhoka shayari

1- अजीब दस्तूर है हमारे संग ज़िन्दगी का हम जैसे ही खुद को दूसरों पर भरोसा करने का मौका देते है वही लोग हमे धोका देते है।

dhoka sad shayari

2- हमारे चाहने वालों से हमे बस यही गिला है, जिसे चाहा है उसी से धोका मिला है।

sad dhoka shayari in hindi

3- यकीनन गलती तुम्हारी नहीं की तुमने हमे धोका दिया तुम भी तो इंसान ही हो गलती तो हमारी थी हमने तुम्हे खुदा समझ लिया।

dhoka sad shayari image

4- रिश्तों का मेरे कुछ ऐसा मंज़र है, जुबां पर सब गले लगते है मुड़ते ही मेरे खोपते पीठ पर खंजर है।

ove dhoka shayari

5- जब से तुझ से बिछड़ गया हूँ, टूट गया हूँ बिखर गया हूँ।

love me dhoka shayari

6- बड़ी ज़ालिम है ये रीत धोकेबाज़ी की इसमें धोका देने की सजा धोका देने वाले को नहीं धोका खाने वाले को मिलती है।

love me dhoka shayari
sad dhoka shayari in hindi

7- जिस जिस को मेरे क़रीब आने का मौका मिला है मुझे हर उस शख्स से धोका मिला है।

dhokha wala shayari

8- वो पुरानी खिलाड़ी थी धोकेबाज़ी के शतरंज की मैं ही उसके लिए मोहरा नया था।

pyar dhoka hai shayari

9- मैं हैरत नहीं क़िस्मत के पलटने से उसका तो मिजाज ही ऐसा है, मुझे दुःख तो तुम्हारी बात पलटने पर हुआ।

pyar dhoka shayari

10- ज्यादा फ़र्क़ नहीं उसमे और मौसम में दोनों वक़्त देख पलट गए।

11- दिक्कत ये थी की मैं उसके लिए खुली तंदूर हो गया, उसने भी अपनी रोटी सेखी और मुझसे दूर हो गया।

12- ऐसा क्यों होता है की जिसे भी मैं दिल में जगह देता हूँ कम्बख्त वही शख्स मुझे दगा देता है।

13- जिसकी क़िस्मत में रोना लिखा होता है उसके तो ख़ुशी में भी आंसू निकल आते हैं।

14- तेरे जाने के बाद अब ज़िन्दगी में कुछ भी हसीन नहीं रहा, तुझे खुदा बनाने के बाद तो अब मुझे खुदा पर भी यकीन नही रहा।

dhoka shayari 2 lines

15- जो सही के साथ गलत करते हैं वो उनके लिए नहीं अपने लिए गलत करते हैं।

इन को भी जरूर पढ़े :-

16- अपनों से धोका मिलता है जनाब वरना गैरों पर आखिर यकीन कौन करता है।

17- अक्सर वही पीठ पर वार करते हैं जो कहते हैं की वो हमसे प्यार करते हैं।

18- तुम पहला रिश्ता नहीं हो मेरा जिसने धोका दिया है मुझे कुछ अलग बात तो तब होती जब तुम सारी ज़िन्दगी मेरे साथ होती।

19- वाह मेरे चाहने वाले तूने क्या काम किया है, खुद धोका देकर सारे ज़माने में मुझे धोकेबाज़ का नाम दिया है।

apno ne diya dhokha shayari

20- जितनी सफाई से उसने मुझसे बेवफाई की है इतनी सफाई से तो लोग सफाई भी नहीं करते।

21- लड़ाई थी मेरी मेरे बिगड़े मुक़द्दर से, मैंने दिल जो लगाया था पत्थर से।

22- उसकी चाहत में मैंने क्या क्या नहीं देखा, पर रोया सिर्फ उस दिन जब धोका दे कर मेरी तेरी तरफ मुड़कर भी नहीं देखा।

23- वो पहला नहीं था जिसने मुझे धोका दिया था पर उस पर यकीन इतना था की उसने मुझे चौंका दिया था।

24- जिस जिस पर भी हमने आँख बंद कर भरोसा किया है आलम ऐसा रहा है की हर उस शख्स ने हमारी आँखे खोल कर रख दी है।

tune dhoka diya shayari
sad dhoka shayari in hindi

25- ये बात अब ज्यादा राज़ नहीं है हर धोकेबाज़ आज कल यही कहता फिरता है की वो औरों की तरह धोकेबाज़ नहीं है।

26- किसने कहा की हम झूठ नहीं बोलते एक दफा हमारी खैरियत पूछ कर तो देखो।

27- मुझे गिरने पर आज तक किसी ने नहीं उठाया पर मेरी मजबूरी का फायदा सभी ने उठाया है।

28- आज मैं रो रहा हूँ तेरे लिए तू कल किसी और के लिए रोएगा इतना समझ ले वक़्त के पन्ने पलटते ज्यादा देर नहीं लगती।

29- एक दिन गुस्से में पूछा ज़िन्दगी ने मेरे पास आ कर, बोली क्या पा लिया धोके के सिवाय उसके पास आकर।

धोखे दार शायरी

30- जो दिखाई देता है वो हमेशा सच नहीं होता, किसी के आँखें धोके में है तो किसी की आँखों में धोका है।

इन को भी जरूर पढ़े :-

31- अब और भूख नहीं मुझे मोहोब्बत की मैंने एक बार धोका खा कर ही पेट भर लिया है।

32- गैर नसीहत देते हैं और अपने साथ तक नहीं देते, जब गिर जाता है इंसान मुसीबत के गड्ढे में उसके अपने उसे हाथ तक नहीं देते।

33- मेरे अपने बहुत है पर उनमे से मेरा अपना कोई भी नहीं है।

34- अब नीचे देख के चलता हूँ रास्तों पर, कहीं कोई दो मुँह वाला दोस्त सांप बन कर डस ना ले।

विश्वास पर धोखा शायरी

35- धोका जो तुम ज़िन्दगी के किसी मोड़ पर किसी को दे कर आए हो याद रखना वही धोका तुम्हे ज़िन्दगी के किसी मोड़ पर किसी और से ज़रूर मिलेगा।

36- धोका खाने वाले को बस गम मिलता है नुक्सान तो उसका होता है जिसने एक छोटे से धोके की वजह से अपना खो दिया।

37- बिछड़ कर भी बिछड़ा नहीं हु तुमसे अब तो तभी बिछड़ पाउगा जब साँसे बिछ्ड़ेगी हमसे।

38- गलती तेरी नहीं जो तूने मुझे धोका दिया गलती तो मेरी है जो तेरे गैर होने बावजूद भी तुझे मुझे अपनाने का मौका दिया।

39- अब धुंदली दिखती है हर रिश्ते की नीव मेरे अपनों ने मेरी आँखों में धुल जो इतनी झोंकी है।

धोखा शायरी वॉलपेपर
SAD DHOKA SHAYARI

40- उम्मीद की बनावट ही कांच की होती है उसका टूटना तो उसके बनने से पहले ही तय होता है।

41- मत पूछ मैंने क्या-क्या देखा है बस अंदाजा लगा ले ये जान कर की मैंने अमीर से अमीर का ज़मीर भी बिकते देखा है।

42- हर अपना यहाँ सपने की तरह है जब आँख खुलती है तो ख़्वाब और भरोसा एक साथ टूट जाता है।

43- आँखे बंद कर इन रास्तों पर भरोसा मत करना जनाब ये तुम्हे वहां ले जा कर छोड़ेंगे जहाँ तुम कहीं के नहीं रह जाओगे।

44- जिस्म राख है ज़िन्दगी बस एक ख़्वाब है, असली चेहरा नहीं ये जो सामने से दिखता है ये सब फरेब है सब नकाब है।

45- जानता था धोका मिलेगा उस से एक दिन पर इसके बावजूद भी हर दिन मैंने उस पर आँख बंद कर भरोसा किया।

इन को भी जरूर पढ़े :-

46- ज़िन्दगी में ये सबक अनोखा मिलता है, जिसे चाहो तहे दिल से उसी से धोका मिलता है।

47- धोका देती है शरीफ चेहरों की चमक अक्सर हर कांच का टुकड़ा हीरा नहीं होती।

48- हम दोनों को ही मौके मिले फ़र्क़ इतना था हमने मौका मिलते ही अपनी चाहत का इज़हार किया और उन्होंने मौका मिलते ही हमे धोका दे दिया।

49- काफी देखे होंगे तुमने आंसू ख़ुशी के कभी मिलो हम तुम्हे गम की हंसी दिखाएंगे।

50- धोका तो क्या तुम ज़हर भी देते तो हम ख़ुशी ख़ुशी खा लेते।

  • 1
    Share

manish mandola

Manish mandola is a co-founder of bookmark status. He is passionate about writing quotes and poems. Manish is also a verified digital marketer (DSIM) by profession. He has expertise in SEO, GOOGLE ADS and Content marketing.

Leave a Reply