30 Best Sabar Shayari – (सब्र करने वाली शायरी

You are currently viewing 30 Best Sabar Shayari – (सब्र करने वाली शायरी
Sabar Shayari
Sabar Shayari

1- निकलना चाहता है जो तू सफलता के सफर पर, खबर रख सबर रख।

allah sabar shayari

2- चलते है मंज़िल की तलाश में गले में कफ़न रख कर, अब तो कदम भी थक चुके हैं सब्र रख कर।

Sabar Shayari in hindi
Sabar Shayari in hindi

3- समझाते हैं लोग आराम कर ले तुझे अभी दर्द की खबर नहीं है, लेकिन फड़फड़ाते है ये उड़ने को हौंसले इन्हे ज़रा भी सब्र नहीं है।

सब्र करने वाली शायरी

4- हाँ आज भी मुझे तुम्ही से प्यार है, दिल टूटा, वादे टूटे कम्बख्त ये सब्र अभी भी बरकरार है।

two line shayari on sabar

5- आज नहीं दिख रहा पर कल दुआओं का असर दिखेगा ज़रूर, आज भले मिले ना मिले पर कल सब्र का फल मिलेगा ज़रूर।

sabar shayari 2 lines
sabar shayari 2 lines

6- जीत के ज़ायके का स्वाद सिर्फ उसकी जुबां से ना चखा गया, जिसने मेहनत तो जी-जान से की बस सब्र ना रखा गया।

sabar ka imtihan shayari

7- गरीब की जेब खाली होती है शायद इसलिए वो सब्र ज्यादा रख लेता है।

sabar quotes in hindi

8- उस घमंडी मंज़िल को ज़रा भी खबर नहीं, उसका गुरूर टूट सकता है पर मेरा सब्र नहीं।

sabar quotes images

9- दिन कितने भी बुरे क्यों ना हो बीतते ज़रूर है, सब्र कर याद रख रोज़ हारने वाले भी एक दिन जीतते ज़रूर है।

patience shayari
patience shayari

10- छोड़ते नहीं ज़िद्द जो एक बार ठान लेते हैं, वो कभी नाकाम नहीं होते जो सब्र से काम लेते हैं।

11- सारी दुनिया गवाह है, हर जख्म को जो भर सके सब्र वो दवा है।

12- हालात के कदमों में मुझे कभी मेरे सब्र ने गिरने ना दिया, जहाँ ठोकरें खाते हैं अकल वाले सब्र ने वहाँ फिसलने ना दिया।

13- बहरा हो गया हूँ मैं दुनिया के तानों का अब जवाब नहीं देता, नाजाने किस चीज़ से बना हुआ है ये सब्र मेरा टूटने का नाम नहीं ले रहा।

14- सबर का इम्तेहान मोहब्बत में हो अगर सागर से भी गहरी होगी रहमत के साए में हर डगर।

sabr status

15- वो सफल नहीं होते जो सब्र करने से पक जाते हैं, बल्कि सफल वो होते है जो वक़्त से सीखते हैं और परिपक्व हो जाते है।

16- ये खेल कामियाबी का है जनाब यहाँ वो जल्दी बाज़ी हार जाता है जो जल्दबाज़ी करता है।

17- वो नफरत करना नहीं छोड़ती मैंने प्यार करना नहीं छोड़ा, वो याद भी नहीं करती और मैंने इंतज़ार करना नहीं छोड़ा।

18- बेखबर बेसब्र थे कभी तेरे लिए हम, अब तेरे आने जाने की भी खबर नहीं रखते।

19- सब्र तो रख बन्दे इस बुरे वक़्त का भी एक दिन बुरा वक़्त आएगा।

shayari on patience

20- अकेले निकले थे ढूंढने दौलत और इत्मीनान, ये तो मिल ना सका बस मिला तो एक सब्र दूसरा इम्तेहान।

इन्हे भी पढ़े :-

21- सब्र की बेइन्तेहाँ हो गई, मैं आज भी तुझे ही ढूंढ रहा हूँ तू ना जाने कहाँ खो गई।

22- तू जान ले ये भी की इंतज़ार तेरा कितना किया है, की जिस तरह हम तुझे देखा करते थे चौंक कर, आज कुछ उसी तरह सब्र हमे देख रहा है।

23- सर नहीं झुकाया कभी जिए हैं हमेशा फक्र करके, अच्छे वक़्त का शुक्र करके, बुरे वक़्त में सब्र करके।

24- सब्र भी मेरा बेसब्र हो गया है, अब मुझसे ज्यादा वो तेरा इंतज़ार करता है।

25- तेरे इंतज़ार में फिर थाम ली है सब्र की ऊँगली, बस डर ये है की कहीं ये ज़िन्दगी ना हाथ से फिसल जाए।

26- वो जो पूछते भी नहीं मुझे, मेरे जाने के बाद बेसब्री से सभी को बताएंगे अच्छा आदमी था।

27- वक़्त से बड़ा राजा इस दुनिया में सच मुच नहीं, सब्र से बेहतर इलाज और ख़ामोशी से बेहतर सजा और कुछ नही।

28- खुदा में दम नहीं था जो मिला देता मुझे उससे, वो तो सब्र था इसलिए मंज़िल से मुलाक़ात हो गई।

29- भूल जाएंगे आपको भी ज़रा सब्र तो कीजिए, बन सके आप ही की तरह कम से कम हमे इतना वक़्त तो दीजिए।

30- सब्र कर पर खाली बैठ मत, सबसे ऊपर वो ऊपर वाला है अकड़ मत ऐंठ मत।

Leave a Reply