PERSONALITY DEVELOPMENT IN HINDI (COMPLETE GUIDE FOR 2020)

PERSONALITY DEVELOPMENT IN HINDI (COMPLETE GUIDE FOR 2020)
Contents hide

अपने जीवन की एक आयु (age) के बाद हर व्यक्ति को अपने भीतर कुछ अच्छे गुणों की कमी दिखाई देने लगती है और हर कोई इन्हे पाने की दौड़ में लग जाता है हर कोई ऐसी PERSONALITY development Tips को ढूंढ़ने की कोशिश करता है जिस से लोग उनकी तरफ आकर्षित हो लेकिन क्या कोई सही में जानता है की पर्सनालिटी डेवलपमेंट क्या है?

कैसे है दोस्तों आज मैं आप के लिए लेकर आया हूँ एक ऐसा रोचक विषय जिसे आप को तलाश होगी तो चलिए अब बिना वक़्त गवाए शुरू करते हैं।

What is personality devolopment ? पर्सनालिटी डेवलपमेंट क्या है ?

पर्सनालिटी डेवलपमेंट दो शब्दों से मिल कर बना है पर्सनालिटी और डेवलपमें । पर्सनालिटी का अर्थ है कुछ ऐसे गुणों का समूह जिनसे मिल कर एक व्यक्ति का चरित्र का निर्माण होता है। एवं डेवलोपमेन्ट का अर्थ होता है बढ़ोतरी और अगर हम इसे मिला कर कहें तो हम इसे कह सकते है चारित्रिक वृद्धि।

-what is personality development | BOOKMARKSTATUS

पर्सनालिटी डेवलपमेंट का उद्देश्य होता है ऐसे चरित्र का निर्माण किया जाए जिस से दूसरे व्यक्ति पर उसका सकारात्मक प्रभाव पड़े।

पर्सनालिटी डेवलोपमेन्ट क्यों आवश्यक है?

हम अपनी ज़िन्दगी में कुछ बेफिज़ूल के कार्य कर लेते हैं परन्तु कुछ बहुत ज़रूरी कार्य छोड़ देते हैं। अथवा कई बार यह भी होता है की हम केवल एक ही कार्य करते हैं और उस कार्य में निपुण भी हो जाते हैं परन्तु बाकी कार्य छोड़ देते हैं

यह आप को उन qualities को भी बेहतर बनाएगा जिन पर आप कभी ध्यान नहीं दे पाए चलिए इसे एक उदहारण से समझते है

उदाहरण – एक स्टूडेंट जो क्लास में हमेश फर्स्ट आता था पर उसने अपनी पढाई पर तो ध्यान दिया पर उसने अपनी अन्य चीज़ो पर कार्य नहीं किया तो उसके लिए पर्सनालिटी डेवलपमेंट करना आवश्यक है।

Personality development से जुड़े कुछ मिथक (Myths related to Personality development)

  • पर्सनालिटी आंशिक (genetic) होती है इसका विकास (development) नहीं किया जा सकता ।
  • अच्छी Personality का अर्थ केवल अच्छा दिखना है और कुछ नहीं।
  • विकलांग व्यक्ति कभी अपनी Personality development नहीं कर सकता।
  • अच्छी पर्सनालिटी केवल विभिन्न पर्सनालिटी डेवलपमेंट कोर्स कर के ही प्राप्त की जा सकती है।
-tips for personality development | BOOKMARK STATUS

12 Tips that helps you in Personality Development

Tip #1- किसी के जैसा हूबहू बनने से खुद को रोकें (Don’t follow anyone blindly)

-personality development tips in hindi | Bookmark Status

सोशल मीडिया के इस ज़माने में लोग की ज़िन्दगी Instagram जैसी हो गई है सब अपने से ऊँचे मकाम वाले व्यक्तियों जैसे की नेता, अभिनेता sports man आदि को अंधाधुन ही follow कर लेते हैं।

किसी से प्रेरणा लेना बुरा नहीं है परन्तु उसकी हर अच्छी बुरी आदत को बिना सोचे समझे ही हूबहू नकल करने लग जाना यह आप से अपनी पहचान छीन लेता है और आपकी personality का विकास नहीं होने देता। चलिए अब इसे भी एक उदाहरण से समझ लेते हैं।

उदाहरण- (Example)– मान लीजिए की आप का एक दोस्त है वह किसी ऐसे नेता को follow करता है जो अभी सत्ता में है और वह उनके द्वार कही गई हर बात को बहुत आसानी से फॉलो कर लेता है।

वह politician अच्छा कार्य तो कर रहा है परन्तु समाज के एक वर्ग को वह अच्छा नहीं मानता तो इसका अर्थ यह नहीं है की आप का दोस्त भी उस वर्ग से नफरत करने लग जाए।

इस विषय पर वह अपने तरीके से सोच कर ही न देखे। हो सकता है वह पूरा वर्ग बुरा न हो केवल कुछ लोग ही उस वर्ग में बुरे हो तो मैं बस आप को यही समझाना चाहता हूँ की हर बात पर आप अपने दिमाग से सोचें इस से न सिर्फ आप का मानसिक विकास होगा अपितु आप की personality का भी विकास होगा।

TIP #2 हार से डरना छोड़ दें (Quit fearing defeat)

-personality development tips in hindi | Bookmark Status

यह point Personality development में इसीलिए आता है क्यूंकि कोई भी कार्य सोच कर किया जाता है पर जब सोच ही ना करने की हो जाए तो क्या होगा नहीं समझ पाए? चलिए मैं समझाता हूँ।

जब भी कोई कार्य को करने से पहले ही सोच लिया जाए की अगर मैं Fail हो गया तो? यकीन मानिए वह कार्य शुरू ही नहीं होता फिर चाहे वह आप के लिए कितना ही ज़रूरी हो

इसीलिए यह बहुत ही ज़रूरी विषय है की आप किसी भी कार्य के बारे में सोचें तो उसके अंजाम के बारे में ज्यादा मत सोचना इस कारण आप वह कार्य शुरू ही नहीं कर पाएंगे।

उदाहरण (Example)- मान लीजिए एक व्यक्ति जो बहुत गरीब है और उसके आगे अब यह विकल्प है की या तो आप पढाई छोड़ दे क्यूंकि उस व्यक्ति ने इतना पढ़ लिया है की अब वह कुछ रूपये कमा सकता है या फिर उसके पास एक और विकल्प यह है की वह थोड़ा और पढ़ ले और अपने परिवार को एक बेहतर ज़िन्दगी दे सके।

परन्तु यहाँ पर डर का कार्य शुरू होता है वह यह सोच कर और नहीं पढ़ पाता क्यूंकि उसे लगता है की अगर वह और पढ़ेगा तो हो सकता है की उसका परिवार तब तक और गरीब ना हो जाए और वह पढ़ कर भी कहीं बेहतर नौकरी नहीं ढून्ढ पाया तो?

यही कारण है की कई व्यक्ति अपनी प्रतिभा से कम पा कर भी आज खुश हैं क्यूंकि उनके डर के आगे वह हार गया।

Tip #3 हर कार्य को उत्साह के साथ कीजिए (Be excited for every task)

-personality development | BOOKMARK STATUS

हर कार्य को इतनी उत्साह से कीजिए की आपके साथ जो उस कार्य को कर रहे है आपके साथी भी भी उत्साह से भर जाए आइए इसे एक उदाहरण के साथ समझते हैं।

उदाहरण (example)- मान लीजिए आपऔर आपके सभी दोस्त park में दौड़ (Running) के लिए गए परन्तु जैसे ही उन्होंने दौड़ना शुरू किया आपने यह कह कर दौड़ना छोड़ दिया की आपका मन नहीं है

इसका परिणाम क्या होगा ? इस से आपकी छवि बिगड़ेगी की यह व्यक्ति इस कार्य को ले कर उत्साही नहीं रहता है और इस से न सिर्फ आप की छवि पर असर पड़ेगा बल्कि हो सकता है की शायद वह आगे से आप को दौड़ने के लिए ना बुलाएं।

इसीलिए हर कार्य को उत्साह के साथ कीजिए और अगर आप का किसी कार्य को करने का मन नहीं है तो बेहतर यही होगा की आप उस कार्य में खुद को उस दिन शामिल ही न करें।

TIP #4 एक वषय पर अत्यधिक न सोचें (Stop Overthinking)

-personality development | BOOKMARK STATUS

इस तनाव भरी ज़िन्दगी में कुछ हादसे ऐसे होते हैं जो हमारे दिमाग में घर कर जाते हैं और हम उन हादसों के बारे में लगातार बार-बार सोचते रहते हैं उन हादसों के कारण न सिर्फ आपका तनाव बढ़ता है इसके इलावा आप का मानसिक विकास भी रुक जाता है। आइए इसे भी एक उदाहरण से समझते हैं।

उदाहरण Example- मान लीजिए आज आपके ऑफिस में आप से कोई कार्य सही से नहीं हो पाया और आपको अपने boss से न केवल उस वजह से डाँट सुननी पड़ी अपितु आपका ऑफिस में मज़ाक भी बन गया।

बाकी सभी के लिए यह बस एक हसने का छोटा सा किस्सा था परन्तु आप इस हादसे को दिल पर ले कर बैठ गए और यह बात आप के दिमाग से निकल नहीं रही और आप लगातार इस पर सोच रहे हैं

इसका परिणाम क्या होगा ? इस से आप अपनी ज़िन्दगी और वक़्त दोनों को खराब कर रहे हैं। इस ज़रुरत से ज्यादा सोचने से आप अगर बचना चाहते हैं तो इसका सबसे सही उपाय यही है की आप अपने आप को अन्य कार्यों में व्यस्त रखें जिस से आप को किसी बीते हुए हादसे के बारे में सोच ही न सकें।

TIP #5 रूढ़िवादी सोच को अलविदा कह देना (Say goodbye to conservative thinking)

-व्यक्तित्व विकास | BOOKMARK STATUS

रूढ़िवादी या फिर कहें की पिछड़ी सोच अर्थात ऐसी सोच जिसका समय के साथ विकास नहीं हो पाया ऐसी सोच आपकि mental Personality Development के विकास में सबसे बड़ा विघ्न हो सकता है।

पिछड़ी सोच वाले व्यक्ति को कोई पसंद नहीं करता और ऐसी सोच के कारण आप कभी भी अपनी mental Personality डेवलपमेंट नहीं कर पाएंगे तो चलिए इसे भी एक उदाहरण से समझ लेते हैं।

उदाहरण (Example)- मान लीजिए की आप एक रूढ़िवादी धारणा की सोच रखते हैं और आप को लड़कियों या महिलाओं का नौकरी करना ठीक नहीं लगता तो इस से न केवल आप की सोच का प्रदर्शन होता है अपितु इस से आप के घर की महिलाओं का भी विकास रुक जाएगा

इसीलिए अगर आपको अपनी सुगम PERSONALITY development चाहते हैं रूढ़िवादी सोच को तो त्यागना ही होगा।

-व्यक्तित्व के सिद्धांत | BOOKMARK STATUS

TIP #6 हलकी मुस्कराहट के साथ वार्तालाप कीजिए (Talk with a little smile on your face)

जब भी किसी के साथ वार्तालाप करें एक हलकी सी smile के साथ करें। इस हलकी सी smile से जो आप के साथ वार्तालाप कर रहा है उसके दिमाग तक यह signal जाएगा की यह व्यक्ति मुझ से बात कर के खुश है एवं ये मुझ से मिलना भी पसंद करता है।

उदाहरण (Example)- मन लीजिए की कल आप का job interview है और आप अपने चेहरे पर हलकी सी हंसी एक संग आप HR को Good Morning wish करते हैं तो इस से आप का प्रभाव HR (Hireing recruiter) पर एक सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा वह यह समझ पाएगा की आप इस interview को लेकर उत्साहित हो और आप यह job पाना चाहे हो।

TIP #7 दृष्टि संपर्क (Eye Contact)

-व्यक्तित्व का विकास | BOOKMARK STATUS

जब भी आप किसी व्यक्ति से मिले तब आप को बार बार आप को बात करते हुए उसकी आँखों में देखते रहना चाहिए। अब इस tip का इस्तेमाल करते वक़्त आप को यह ध्यान देना है की आप को लगातार अपने सामने वाले व्यक्ति की आँख में नहीं देखना है ।

यह आप दोनों के बीच थोड़ी विचलित सी स्तिथि पैदा कर देगा आप को थोड़े थोड़े समय पर इधर उधर भी देखना है ताकि सामने वाला व्यक्ति आपके साथ आराम से वार्तालाप कर सके।

उदाहरण Example– एक बार फिर से इंटरव्यू या चलिए date का उदाहरण लेते है मान लीजिए आप किसी लड़की से मिलने गए हैं और आप एक resturant या cafe में बैठे हुए हैं

अब अगर आप उनकी आँखों में आँख डाल कर बात करेंगे तो आप के partner को भी लगेगा की यह मुझे ध्यान से सुन रहे हैं और बात करने के लिए भी उत्साहित हैं इस से आपका सामने वाले पर अच्छा इम्प्रैशन आएगा और हो सकता है की आप की बात भी बन जाए। क्यूंकि वह कहते है ना “First impression is the last impression”

TIP #8 शालीनता से हाथ मिलाइए (Warm Hand Shake)

-व्यक्तित्व का विकास | BOOKMARK STATUS

professional life में हाथ मिलाना बहुत ही आम है और यह भी सामने वाले के लिए पर impression ज़माने का सही मौका होता है माना की यह बहुत ही छोटा सा संकेत होता है परन्तु छोटी छोटी चीज़ों से मिल कर ही एक Great Personality का निर्माण होता है।


किसी से भी हाथ मिलते वक़्त ये ध्यान रखें की दूसरे व्यक्ति का हाथ जब आप के हाथ में आए तो उसे बहुत आराम से पकड़ें और केवल एक बार shake करें।

उदहारण (Example)- अगर आप एक job Interview में जा रहे हैं तो आप Interview room में एंट्री करते ही hand shake कर अपना नाम बताते हैं यही मौका होगा जब आप इस तरह से आप अपने सामने वाले व्यक्ति को संकेत देंगे की आप इस Interview को लेकर pressure में नहीं हैं।

TIP #9 पोशाक ठीक से और अवसर के अनुसार पहनें ( Dress properly and according to the occasion)

-व्यक्तित्व का विकास | BOOKMARK STATUS

पौशाक का हमारी Personality (Physical Appearance) पर बहुत अत्यधिक प्रभाव पड़ता है। यह तो ज़रूरी है ही की हमने क्या पौशाक पहनी है एवं कैसी पहनी है एवं कब पहनी है यह भी बहुत अत्यधिक ज़रूरी है।

उदाहरण (Example)- मान लीजिए आप job Interview के लिए गए हैं और आप शेरवानी पहन कर चले गए हैं और जो आप पर बहुत ढीली (loose) या फिर तंग (Tight) है

यक़ीन मानिए आप का चयन (selection) होना बहुत ही मुश्किल है क्यूंकि आपने अपनी Personality का यह प्रमाण दिया है की आप यह नहीं जानते की आप को सही चुनना नहीं आता।

TIP #10 पहले सुनिए फिर बोलिए (Listen first then speak)

-व्यक्तित्व के सिद्धांत | BOOKMARK STATUS

जब भी आप किसी व्यक्ति से मिले या बातचीतt करें तो पहले उसकी बात को पूरी तरह से सुन लीजिए और उसके बाद अपने विचार रखिए।

इस से सामने वाले व्यक्ति को अपनी बात रखने में भी दिलचस्पी आएगी और वह आपकी बातें भी सुनेगा क्यूंकि आप ने भी उस व्यक्ति को ध्यान से सुना था ऐसा करने से आपके रिश्ते भी मजबूत हो जाएंगे क्यूंकि आप दोनों अब एक दूसरे को पूरी तरह से समझ पा रहे हैं ।

TIP #11 अपनी बात तारीफ़ से शुरू करें (Start with a compliment)

--व्यक्तित्व के सिद्धांत | BOOKMARK STATUS

जब आप सामने वाले व्यक्ति की बात सुन चुकें है तो सीधा उसकी कमियों को मत दर्शाइए पहले उनकी अच्छी बातों की तरफ संकेत कीजिए और उनके कुछ ऐसे बिंदु (Points) जिन पर आप सहमत नहीं हैं उन पर अंत में बात कीजिए।

इस से सामने वाले व्यक्ति को लगता है की आप ने उनकी बातों को ध्यान से समझा है और केवल उनकी बुरी बातों का आपने चयन नहीं किया है इस से कोई भी बहस आसानी से सुलझाई जा सकती है।

उदाहरण (Example)- मान लीजिए आप से एक व्यक्ति ने अपने बनाए खाने पर राय मांगी और वह खाना बहुत ज्यादा अच्छा नहीं बना हैं तो आप सीधा अगर यह बोल देंगे यह भोजन अत्यंत बेस्वाद है और बेकार है

अगर आप यह राय दें की यह सब्जी काफी अच्छी बानी है पर इसमें नमक थोड़ा सा कम है इस से यह फ़ायदा होगा की यह सामने वाला व्यक्ति ना सिर्फ अपनी गलती आसानी से मान लेगा बल्कि अगली बार वह यह ध्यान रखेगा की नमक मैं सही रखूँ क्यूंकि पिछली बार सब सही हुआ था बस नमक ज्यादा रह गया था।

TIP #12 समाज से कट कर रहना छोड़ दें। (Stop Avoiding Social Interaction)

-व्यक्तित्व विकास | BOOKMARK STATUS

सोशल मीडिया की इस दुनिया में लोग इसे ही अपनी दुनिया समझ चुके हैं और असल दुनिया जो चा दीवारी के बहार शुरू होती है उसे तो मानो भूल ही गए हैं। पहले जो बातें मिल कर जुबां से की जाती थी अब सोशल मीडिया के कारण अंगूठों से की जाने लग गई है।

इसका नुक्सान क्या हुआ लोग अब बहार जा कर खेलते नहीं बातें नहीं करते नतीजा उन्हें अब public speaking जैसी skills जो बहार समाज से मिल कर समाज में रह कर आसानी से आपके भीतर आ जाती थी आज वह एक डर बन चूका है।


अगर आप समाज से कट कर रहना बंद कर देंगे तो आपका यह डर समाप्त हो सकता है आपको बस नए दोस्त बनाने है उनसे face to face बातें करनी है और आप अपनी सोशल पर्सनालिटी डेवलपमेंट कर सकते हैं।

SUMMARY of Personality Development tips

  • किसी के जैसा हूबहू बनने से खुद को रोकें (Don’t follow anyone blindly)
  • हार से डरना छोड़ दें (Quit fearing defeat)
  • हर कार्य को उत्साह के साथ कीजिए (Be excited for every task)
  • एक वषय पर अत्यधिक न सोचें (Stop Overthinking)
  • रूढ़िवादी सोच को अलविदा कह देना (Say goodbye to conservative thinking)
  • हलकी मुस्कराहट के साथ वार्तालाप कीजिए (Talk with a little smile on your face)
  • दृष्टि संपर्क (Eye Contact during discussions and talks)
  • शालीनता से हाथ मिलाइए (Warm Hand Shake)
  • पोशाक ठीक से और अवसर के अनुसार पहनें ( Dress properly and according to the occasion)
  • पहले सुनिए फिर बोलिए (Listen first then speak)
  • अपनी बात तारीफ़ से शुरू करें (Start with a compliment)
  • समाज से काट कर रहना छोड़ दें। (Stop Avoiding Social Interaction)

अब आपकी बारी (It’s your turn now)

लेख पढ़ने के लिए बहुत-बहुत शुक्रिया आशा करता हूँ आपको यह लेख पसंद आया होगा और इस से आपको अपनी PERSONALITY development करने में आप को मदद मिलेगी। लेख कैसा लगा

हमे अपना क़ीमती feed back ज़रूर दें अच्छा लगा हो तो अच्छा बतिएगा कुछ खामियां लगी हो तो ज़रूर बताइएगा मुझे आपके comments का इंतज़ार रहेगा

Summary
PERSONALITY DEVELOPMENT IN HINDI (COMPLETE GUIDE FOR 2020)
Article Name
PERSONALITY DEVELOPMENT IN HINDI (COMPLETE GUIDE FOR 2020)
Description
Do you think you have issues with a bad personality? If yes then believe me read this complete guide on personality development.
Author
Publisher Name
Bookmarkstatus
Publisher Logo

manish mandola

Manish mandola is a co-founder of bookmark status. He is passionate about writing quotes and poems. Manish is also a verified digital marketer (DSIM) by profession. He has expertise in SEO, GOOGLE ADS and Content marketing.

Leave a Reply