Best Narazgi shayari

You are currently viewing Best Narazgi shayari
narazgi shayari
narazgi shayari in hindi

1- पूछ कर फायदा क्या कोई बताने वाला ही नहीं है, नाराज़ होकर फायदा क्या कोई मानाने वाला नहीं है।

love narazgi shayari

2- यूँ ही नहीं नाराज़ करता मैं, नाराज़गी तुम्हे और खूबसूरत बना देती है।

narazgi ki shayari

3- नाराज़गी भी उसी से होती है जिससे मोहोब्बत होती है, वरना अनजान से तो बात भी नहीं होती।

नाराज शायरी फोटो
narazgi shayari

4- चुप हूँ इसका मतलब ये नहीं की नासाज हूँ मैं, कुछ बात ज़रूर होगी बेवजह नहीं नाराज़ हूँ मैं।

नाराजगी शायरी 2 लाइन

5- तुम भी पूछते हो हाल हमारा, तुम्हे तो सनम पता होना चाहिए था।

6- क्यों ना खफा हो ज़माना मुझसे, मैं तो खुद ही खुद से अब बात नहीं करता।

7- सितम हमारे सारे छांट लिए करो, नाराज़ होने से अच्छा हमे डांट लिया करो।

8- पड़ा रहता हूँ लिपटकर एक कोने से सनम, कुछ रास नहीं आता एक तेरे नाराज़ होने से सनम।

9- उदास कमरा, उदास मौसम उदास ज़िन्दगी, कितनी चीज़ों पर इलज़ाम लग जाता है एक तेरे नाराज़ होने पर।

narajgi quotes in hindi

10- तेरी नाराज़गी जो ख़त्म हो जाए, एक बार फिर मोहोब्बत शुरू की जाए।

11- कुछ सवाल नहीं पूछते कुछ जवाब नहीं देते, कम से कम नाराज़ हो हमसे इतना तो बता दो।

12- समझने समझाने से कुछ नहीं होता, कुछ नाराज़गी सिर्फ गले लगाने से ख़त्म होती है।

13- कुछ खुमार हो जाए कुछ नशा बेशुमार हो जाए, कुछ क़रीबी फिर से हो जाए, जो उसकी नाराज़गी दूर हो जाए।

14- खता मेरी थी जो दिल लगाया तुझसे, अब जो दिल टूटा इसमें तेरा क़सूर क्या भला।

narajgi status hindi

15- ख्वाहिशें सभी की पूरी कर दी मैंने बस खुद को ही नाराज़ किया हुआ है।

16- यूँ बात बात पर हमे खफा ना किया कर सनम, अगर ये ही करना है तो नफरत कर ले तू वफ़ा ना किया कर सनम।

17- अब पूछते भी नहीं की बात क्यों नहीं करते इतनी नाराज़गी भी ठीक नहीं सनम।

18- ये ही अपनी मोहोब्बत का आगाज़ कर रहे हो, मोहोब्बत शुरू हुई नहीं और पहले ही हमे नाराज़ कर रहे हो।

19- दो बातें प्यार की तू भी बोले हमे मनाते हुए, इस चक्कर में कबसे नाराज़ बैठे हैं।

dost naraz shayari
dost naraz shayari

20- गुस्सा ना हो मानो ताज हो उसका, हर वक़्त उसके सर पर सवार रहता है।

21- पहले खुद ही हाल नहीं पूछते सनम अब बेहाल होने की वजह पूछते हो।

22- तेरे दिल से निकाले जाने के बाद फिर, ताउम्र मैं नशे में रहा।

23- जब से तूने बात करना छोड़ दिया है मुझसे मैंने खुद को सुन्ना भी छोड़ दिया है।

24- आवाज कांपती है अपना हाल बताते हुए, मैं खुद से रूठ गया हूँ तुझे मनाते हुए।

25-जब से तू मुझसे रूत गया है, मेरा वज़ुद मुझ से छूट गया है।

Leave a Reply