40 Gam Shayari in Hindi

You are currently viewing 40 Gam Shayari in Hindi
gam shayari
gam shayari

1- खुशियों का कारवा थोड़ा कम मिला है, हमे हर किसी से हर दम बस गम मिला है।

gam bhari shayari

2- नाजाने ऐसी क्या मोहोब्बत है गम को मुझसे वो हर वक़्त मुझसे मिलने को बेकरार रहता है।

gam shayari in hindi
gam shayari in hindi

3- दवा की आस में उनसे बस ज़ख्म मिलते रहे, वो तो मिले न हमे पर हमे उनसे गम मिलते रहे।

gam ki shayari
gam ki shayari

4- गम भी हमसे मिल कर अब तरस खा कर कहता है अब और क्या गम दूँ तुझे।

gam ki shayari
gam shayari

5- कौन है अब जिसे मैं अपनी नज़्म सुनाऊँ, कोई सुनने वाला हो तब जा कर ही तो किसी को अपने गम सुनाऊँ।

gam bhari shayari

shayari gam bhari

6- गम कितने हैं गिनने का वक़्त नहीं मिलता अगर मिलता भी है अब कुछ तो बस गम मिलता है।

gam bhari shayari photo

7- माना की गम के बाद मिलती है मुस्कुराहटें, लेकिन जियेगा कौन तेरी इतनी बेरुखी के साथ।

gam bhari shayari photo
gam shayari in hindi

8- गम और ज़ख्म मैं अपने किसी को बताता नहीं लोग मरहम के बहाने नमक लगा दिया करते हैं।

gam bhari shayari hindi mein

9- गम तेरा नहीं तेरी यादों का है, तेरी झूठी बातों का है तेरे झूठे वादों का है।

gam bhari shayari status

10- अगर जो हमारे बिछड़ने के बाद भी हम मिलते रहते, तो जी लेते ख़ुशी ख़ुशी चाहे गम मिलते रहते।

11- तेरा जाने और गम के आने की शुरुवात एक ही साथ हुई, अब आंसू आना और गम आना एक ही बात हुई।

12- तेरे जाने के बाद ग़मों को सहने का हुनर आ गया, तेरे जाने के बाद दुःख में भी ठीक हूँ कहने का हुनर आ गया।

13- उम्र निकल गई पर आंसू और गम ना निकले, हम दम याद में मरते रहे पर कम्बख्त ये दम ना निकले।

14- गम आते रहे हम मुस्कुराते रहे, वो हमसे नफरत करते रहे हम उन्हें चाहते रहे।

gam shayari in hindi for girlfriend

15- हमे तुम ना मिले पर तुम्हारी वजह से काफी गम मिले, दवा तो ना मिली पर तुम्हारी वजह से काफी ज़ख्म मिले।

16- इश्क़ इतना बेइन्तेहाँ है तुम से की तुम से मिले गम भी ख़ुशी से कम नहीं है हमारे लिए।

gam ki shayari

17- अब तू ही कोई मेरे गम का इलाज कर दे, तेरा ही गम है शायद तेरे कहने से चला जाएगा।

18- तुझे याद करते हैं तो गम भुला देते हैं, पर तू क़िस्मत में नहीं अक्सर ये ख़याल हमे रुला देते हैं।

19- ग़मों से रिश्ता पुराना है मेरा हम तब से साथ है जब से तू मुझे छोड़ गई है।

2 line dard shayari
2 line dard shayari

20- अब जो तू संग नहीं है कैसे कह दे मुस्कुरा कर के की कोई गम नहीं है।

21- मुस्कुराहट के पीछे गम दबाए हुए, अरसा हो गया किसी को सच बताए हुए।

22- सुन कर तमाम रात मेरी दास्ताँ गम की, वो मुस्कुरा कर बोले तुम बोलते बहुत हो।

23- दे कर वो गम लाखों इस दिल को अब पूछते है मुझसे तुम मुस्कुराते क्यों नहीं।

24- जुबां को कुछ कहने की छूट नहीं दी हमने ये कम्बख्त आँखे कभी-कभी रो कर सब बयान कर देती है।

dukh shayari in hindi

25- तेरे जाने का गम फिर ना आने का गम, फिर ज़माने का गम, क्या करें ?

26- कुछ मैं गम दुनिया को इसलिए भी नहीं बताता की वो मेरे गम जान तो जाएंगे पर समझ नहीं पाएंगे।

27- गम मुस्कुराते है मुझे देख कर कहते है देख मैं फिर आ गया।

gam shayari in hindi for girlfriend

28- खुशियों की धुप को हम तरसते रहे, लोग देख हँसते रहे आँखों से गम बरसते रहे।

29- चाहा था मुकम्मल हो मेरे गम की कहानी, मैं लिख ना सका कुछ तेरे नाम के आगे।

love dard bhari shayari

30- ग़मों का कारवां रुक नहीं रहा है मेरे आंसू भी ताल से ताल मिला कर साथ दे रहे हैं।

31- हमारे गम का अंदाजा इसी बात से लगा लो की हम उनसे मोहोब्बत करते हैं जो हमसे बात तक नहीं करते।

32- गम इतना भर चूका है अंदर की कभी-कभी आँखों के रास्ते वो निकल आता है।

33- गम दे कर ये दिलासे कैसे, मुँह पर तसल्लियाँ तो दुनिया में तमाशे कैसे।

34- ज़िंदगी लोग जिसे मरहम-ए-ग़म जानते हैं, किस तरह हमने गुजारी है हम ही जानते हैं।

35- गम मिलना अब आम हो गया है, मेरा तो पहले ही काम तमाम हो गया है।

36- जिस से भी गले मिले उससे ही गीले मिले।

37- मेरी हंसी में भी कई गम छिपे है सोचता हूँ बता दू अगर तो कोई मोहोब्बत नहीं करेगा।

38- गम इस क़दर हमें खाए जा रहा है की आंखों का रोना इस दर्द को बताए जा रहा है।

39- जिसने ज्यादा गम देखें है ज़िन्दगी में वही दूसरों की ज़िन्दगियों में खुशियां भरने की कोशिश करता है।

40- जो पूरा ना हो सका वो किस्सा हूँ मैं, छूटा हुआ ही सही तेरा हिस्सा हूँ मैं।

इन्हे भी पढ़े :-

Leave a Reply