40+ Chai Shayari (चाय पर शायरी )

You are currently viewing 40+ Chai Shayari (चाय पर शायरी )
Chai Shayari
Chai Shayari

1- बस सुबह की Good Morning से सुबह की चाय तक का सफर तय करना चाहता हूँ मैं तुम्हारे साथ।

shayari on chai

2- दोबारा गर्म की हुई चाय और समझौता किया हुआ रिश्ता दोनों में पहले जैसी मिठास कभी नही आती।

chai pe shayari
chai pe shayari

3- बेवकूफी की राय और ठंडी चाय हम नहीं लेते।

chai shayari in hindi
chai shayari in hindi

4- मिजाज़ कड़क है पर जिससे भी मिलते हैं दिन बना देते है खुदा ने हमे बनाया ही चाय सा है।

garam chai shayari

5- गर्मी के मौसम में हलकी ठंडी हवाएं मिल जाती है, हमे सब कुछ मिल जाता है जब चाय मिल जाती है।

chai love shayari

6- हमसे रूठना मत हमारा मिजाज ही ऐसा है हम किसी को सफाई और अपनी चाय कभी नहीं देते।

chai ki shayari

7- हम और वो मिलते है तो मोहोब्बत की बातें खूब होती है मेरा और चाय का रिश्ता ही कुछ ऐसा है।

chai shayari funny

8- जैसे बेसहारा आदमी को दुआएं मिल जाती है, कुछ ऐसा ही हाल होता है जब हमे चाय मिल जाती है।

chai 2 lines shayari

9- किसी की ज़रुरत नहीं मुझे जो तू मिल जाए, तू मेरे लिए ज़रूरी नहीं तू मेरी ज़रुरत है चाय।

good morning chai shayari

10- जैसे बेघर को सुकून मिल जाता है रह कर किराय पर, बस वैसा ही सुकून मिलता है जब मैं बैठता हूँ चाय पर।

chai pe Shayari

11- जब ये लब चाय और तेरे लबों को छू लेते है, तो हम एक पल में सदियां जी लेते है।

12- जब मेरे लब चाय की प्याली को छू लेते है हम उस एक पल सो सदियां जी लेते हैं।

13- कभी बैठो तो सही जनाब सुकून से चाय के लिए, सब कुछ भुला देना शुरू कर दोगे चाय के लिए।

14- मेरी रूह इस बात की गवाह है मैं बीमार हूँ तो चाय मेरे लिए दवा है।

shayari for chai lovers
Chai Shayari

15- बस आप हो हम हो और हाथों में चाय हो, फिर क्या फ़र्क़ पड़ता है की क्या दाएं हो और क्या बाएं हो।

16- हर उस जगह समा बन जाता है मेरे लिए, जहाँ एक प्याली चाय बन जाती है मेरे लिए।

17- अगर चाय ना होती हमारी तो सुबह भी सुबह ही ना होती।

18- वो जो ना मिले तो घर के बावजूद भी बेघर हम है, मेरे सारे जख्मों के लिए सिर्फ चाय ही मरहम है।

19- चाय मेरी वो दुनिया है जिसके बिना मेरी ये दुनिया अधूरी है।

subah ki chai shayari

20- चाय वो सनम है जो बाँहों में झूला झुलाती है एक चाय ही तो है जो मुझे मुझसे मिलाती है।

21- चाय वो मेहबूब है जो शिकायत का मौका नहीं देती, चाय वो मेहबूब है जनाब जो कभी धोका नहीं देती।

22- चाय ना मिल सके जिस सुबह वो सुबह सुबह ही नहीं, इसका स्वाद ना चखा हो जिस जुबां ने वो जुबां, जुबां ही नहीं।

23- चाय वो नशा है मेरे लिए जिसे पीकर ही मुझे होश आता है।

24- जिसके पास हर सुबह चाय और Toast है उसके पास दुनिया के दो सबसे वफादार दोस्त है।

tea shayari
tea shayari

25- चाय वो दुआ है जनाब जो मिल जाती है तो दिन बन जाता है।

इनको भी पढ़े:-

2 line Shayari on chai

26- लोग सुकून के लिए शराब पीते हैं, कोई हमसे पूछे की सुकून के लिए हम क्या करते हैं हम कहेंगे हम चाय पीते हैं।

27- प्याले ने लब छू लिए केतली देखती रह गई।

28- हम नहीं लगते बेवफा सनम के मुँह हमारे लब तो बस इस चाय की प्याली के लिए हैं।

29- हमदर्द हर सरदर्द होता है, चाय ना मिले जो हमे हर सुबह तो हमारा बड़ा सरदर्द होता है।

2 line shayari on chai
2 line shayari on chai

30- बेरंग दुनिया में रंग भरते हैं, हम दिल की बातें बस चाय के संग करते हैं।

31- मोहोब्बत हो चाय और मेरे जैसी ना मैं उसे छोड़ता हूँ ना वो मुझे छोड़ती है ।

32- चाय के नशे का आलम ही कुछ ऐसा है ग़ालिब की कोई राय भी दे तो अदरक वाली बोल देते हैं।

33- वो मोहोब्बत ही क्या जो किसी हद तक हो, वो चाय ही क्या जिसमे ना अदरक हो।

34- ये दुनिया अगर कभी खूबसूरत लगती है तो वो बस चाय पीते वक़्त।

35- हमारी ज़िन्दगी में अगर चाय नहीं तो ये जहन्नुम है ज़िन्दगी नहीं।

36- किसी अकेले बन्दे को जैसे बैठने को सभाएं मिल जाए बस कुछ ऐसा ही महसूस होता है हमे जब चाय मिल जाए।

37- मेरी मेहबूब को मैं रोज़ लबों से लगाता हूँ वो चाय कभी मुझे उसे चूमने से इंकार नहीं करती।

38- चाय मेरे लिए कुछ इस तरह है जैसे बंजर ज़मीन के लिए बरसात, सितारों के लिए काली रात।

39- जो सुबह सुबह एक चाय की प्याली हो जाए जो ज़िन्दगी ये प्याली हो जाए।

40- चाय बरसती जो बादलों से तो बरसात से बचने के लिए मैं कभी छाता ना खरीदता।

41- जो चाय का सहारा ना होता, खुदा ही जाने हमारा क्या होता।

इनको भी पढ़े:-

Leave a Reply