29+ Zakhm Shayari for whatsapp and fb

zakhm shayari 1- ज़ख्म हर जगह है कहीं मरहम नहीं मिलता, मैं-मैं की रट हर जगह है मगर कहीं हम नहीं मिलता। 2- ज़ख़्मों…

0 Comments