50 Best Bholenath Shayari

You are currently viewing 50 Best Bholenath Shayari

शिव की बनी रहे आप पर छाया पलट दे जो आपकी किस्मत की काया मिले आपको वो सब इस अपनी ज़िन्दगी में जो कभी किसी ने भी ना पाया।

मैंने तेरा नाम ले लेकर ही सारे काम किए हैं, लोग समझते हैं कि मैं किस्मत वाला हूं। जय भोलेनाथ

विश्व का कण कण शिव मय हो अब हर शक्ति का अवतार उठे जल थल और अम्बर से फिर बम बम भोले की जय जयकार उठे।

मर-मर के तू लाख जन्म ले ले, हाथ में तेरे राख भी ना आयेगा। आरंभ तेरा तुझसे है, अंत में तू महाकाल के पास जायेगा।

शव हूँ मैं भी शिव बिना, शव में शिव का वास, शिव मेरे आराध्य हैं, मैं हूँ शिव का दास।

bhole baba ki shayari

अगर महाकाल से मोहब्बत करना सजा है, तो ऐसी सजा मुझे हर बार मंजूर है। जय भोलेनाथ

ना जीने की खुशी, ना मौत का गम, जब तक हैं दम, महादेव के भक्त रहेंगे हम।

इस मौसम में ठंड उनको लगेगी, जिनके कर्मों में दाग है। हम तो महाकाल के भक्त हैं, भैया हमारे तो मुंह में भी आग है। जय भोलेनाथ

ना पूछो मुझसे मेरी पहचान, मैं तो भस्मधारी हूँ, भस्म से होता जिनका श्रृंगार, मैं उस भोलेनाथ का पुजारी हूँ।

कोई दौलत का दीवाना, कोई शोहरत का दीवाना, शीशे सा मेरा दिल, मैं तो सिर्फ महादेव का दीवाना।

जब ज़माना मुश्किल में दाल देता हैं, तब मेरे भोले हज़ारों रास्ते निकाल देता हैं।

बाबा महाकाल के भक्त हैं, हर हाल में मस्त हैं जिंदगी एक धुँआ हैं, इसलिए हम चिलम मैं मस्त हैं।

हीरे मोती और जेवरात तो सेठ लोग पहनते हैं, हम तो भोले के भक्त है इसीलिए “रुद्राक्ष” पहनते हैं।

ये नशा किसी शीशी का नही जो उतर जाये, ये नशा नाथो के नाथ भोलेनाथ का हैं, जो चढ़ता ही जाय।

आता हूँ महाकाल तेरे दर पे, अपना शिर्ष झुकाने को, 100 जन्म भी कम हैं भोले, अहेसान तेरा चुकाने को।

baba mahakal status

पागल सा बच्चा हूँ, पर दिल से सच्चा हूँ, थोड़ा सा आवारा हूँ पर महादेव तेरा ही दीवाना हूँ।

ॐ त्र्यम्बकम् यजामहे सुगन्धिम्पुष्टिवर्धनम्, उर्वारुकमिव बन्धनात् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात।।

ऊँ नमः शिवाय शब्द में सारा जग समाए, हर इच्छा पूरी कर जाएँ भोले बाबा वो कहलाएँ।

ये दिल तुमसे, ये जान तुमसे हैं, तुम्हे कैसे भूल सकता हूँ, महाकाल मेरा तो जहानँ तुमसे हैं।

काल अनेक महाकाल एक देव अनेक महादेव एक, शक्ति अनेक शिवशक्ती एक नेत्र अनेक त्रिनेत्रधारी एक।

जिंदगी जीना आसान नहीं होता, बिना कर्मों के कोई महान नहीं होता! जब तक न पड़े हथौड़े की चोट, पत्थर भी भगवान नहीं होता। जय भोलेनाथ

सारा जहाँ है जिसकी शरण में नमन है उस शिव जी के चरण में बने उस शिवजी के चरणों की धुल आओ मिल कर चढ़ाये हम श्रद्धा के फूल।

बाबा ने जिस पर भी डाली छाया उसकी किस्मत की पलट गई काया वो सब मिला उसे बिन मांगे ही जो कभी किसी ने ना पाया।

व्याप्त हैं शिव सृष्टि में, शिव सत्य दोनों एक हैं, शिव कृपा से सत्य का पथ दृष्टिगत हो आपको। जय शिव शंभो, हर हर महादेव

सिर्फ कह देने से कोई भगवान नहीं हो जाता, विष पान करना पड़ता हैं शिव शंकर की तरह।

इन्हे भी पढ़े :-

Leave a Reply