विरोधियों के लिए शायरी

You are currently viewing विरोधियों के लिए शायरी
विरोधियों के लिए शायरी

ये राजनीती हैं साहब हैं यहां छोटे से बड़े हर नेता का कोई ना कोई विरोधी जरूर होता है।

विरोधियों के लिए शायरी 2 line

विरोधियों ने कुछ इस कद्र गदर मचा रखा हैं पूरे देश की नाक में दम कर रखा है।

विपक्ष के लिए शायरी

अपने विरोधियों से बस यही कहना चाहता हूँ की जिंदगी प्यारी हैं तो मुझसे थोड़ा दूर रहे।

virodhi shayari

आज इस ज़माने में चाहे कोई इंसान अच्छा काम करे या बुरा दोनों तरफ़ा उसके विरोधी जरूर होते है।

विरोध पर सुविचार

राष्ट्र हित के बारे में जरा भी नहीं सोचते हैं विरोधी जब मौका मिले तब हंगामा कर देते हैं विरोधी।

विरोध कुछ इस प्रकार करो की जिसमे राष्ट्र को ना ही अंदर से और ना ही बाहर से क्षति पहुंचे।

अगर आप किसी पार्टी के विरोधी हैं तो उसके ही विरोधी रहे देश विरोधी ना ना बने।

एक ख़राब सरकार के कारण आप कैसे अपने लोकतंत्र के विरोधी बन सकते है।

जनता का हक़ हैं विरोध करना पर जहा हिंसक होगा विरोध वहा जनता पर चलेगा सरकार का क्रोध।

विरोधियों के लिए स्टेटस
विरोधियों के लिए स्टेटस

जितने पहले मेरे विरोधी बने घूमते थे आजकल वही मेरे आगे पीछे मुझसे 2 मिनट बात करने को तरसते है।

कुछ इस प्रकार हमारा रुतबा हैं की विरोधी भी हमारे आगे हथियार उठाने से कापते है।

जो देश के हित में अपनी टांग अड़ाता हैं असल में वही देश का सबसे बड़ा विरोधी होता है।

कही मौत से मुलाकात ना हो जाये बस इसी बात के डर में जी रहे हैं मेरे विरोधी।

हमारे विरोधियों को भय से भी इतना भय नहीं लगता होगा जितने की उन्हें हमारे नाम से लगता है।

विरोधियों का विरोध तभी अच्छा लगता हैं जब वह अहिंसक रहता है।

कामयाबी से जब हमारे नाम जुड़ेंगे टकराकर पीछे हमसे ये तूफ़ान मुड़ेंगे है यक़ीन हमको ख़ुद पर तो इतना हमें देखकर विरोधियों के होश उड़ेंगे

अकेला ही भीड़ में बेख़ौफ़ खड़ा है विरोधियों में इस बार ख़ौफ़ बड़ा है मिलाना आकर नज़रों से नज़र जिसको भी हारने का शौक़ चढ़ा है

सच्चाई की राहों पर ना कभी उतरते हैं.. विरोधी हमेशा भीड़ में खौफ फैलाते हैं

जब से जाना है मेरे बारे में तब से विरोधियों में खलबली मची है सोच रहे हैं जितनी जी ली ज़िंदगी वही अच्छी है

यारों हमारे नाम से जिंदगी के सभी तूफान भी मुड़ जाएंगे.. शान देखकर विरोधियों के होश जरूर उड़ जाएंगे

विरोध के नाम पर जो ज़हर उगलते हैं उनकी नफ़रत की आग से शहर सुलगते हैं इन विरोधियों को सबक सिखाना ही होगा जो विकास की गाड़ी को नहर में धकेलते हैं

छूकर हमको कहीं ख़ाक मत हो जाना ज़िंदगी का हादसा दर्दनाक मत हो जाना विरोधियों जरा सोच समझकर टकराना हमारे हौसलों के बारूद की खुराक़ मत हो जाना

विचारधारा के बिना हमारा क्या विरोध करेंगे हमारे विरोधियों से कहो पहले विचारशील बनो बातों में तर्क होगा तभी हम भी वितर्क करेंगे

हुनर देख हमारा विरोधी परेशान है टकराता देख तूफ़ानों से सब हैरान है कह दो हमारे विरोधियों से वो क्या करेंगे हमारा मुकाबला जिनके हौंसले ही बेजान है

दिल पर काबू रख कर तुम शांति से बातों को सुनना.. विरोधियों की हर बात पर कभी तुम गुस्सा ना करना

ऊँचा उड़ने की हमने ठान ली है विरोधियों की औक़ात जान ली है काटने वाले क्या काटेगा पंख हमारे हमने तो हौसलों से उड़ान ली है

दुनिया में हर किसी का सम्मान करना पड़ता है.. विरोधियों का हिम्मत से सामना करना पड़ता है

जब से जाना है मेरे बारे में तब से विरोधियों में खलबली मची है सोच रहे हैं जितनी जी ली ज़िंदगी वही अच्छी है।

अपने फायदे के बिना कोई किसी को देता हिम्मत नहीं.. याद रखना विकास का विरोध करना कभी जायज नहीं

अपनी जिंदगी में यारों हर किसी की बारी आती है.. विरोधियों को जनता कभी दूसरा मौका भी देती है।

इन्हे भी पढ़े :-

Leave a Reply